Friday, August 19, 2022
spot_img
Homeमध्यप्रदेशElectricity : पेट्रोल - डीज़ल के बाद अब बिजली की मार, प्रदेश...

Electricity : पेट्रोल – डीज़ल के बाद अब बिजली की मार, प्रदेश मे इतनी बढ़ी बिजली की दरें, घरेलु उपभोगताओं पर असर ज्यादा

भोपाल – डीजल-पेट्रोल के बाद अब प्रदेश के उपभोक्ताओं को महंगी बिजली का झटका लगा है। मप्र नियामक आयोग ने बिजली की दरों में 2.64% की बढ़ोतरी करने का आदेश दिया है।

नई दरें 8 अप्रैल से लागू हाे जाएंगी। महंगी बिजली का सबसे अधिक भार घरेलू उपभोक्ताओं पर डाला गया है। हालांकि, औद्योगिक बिजली की दरें भी बढ़ाई गई हैं।

मप्र नियामक आयोग ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए गुरुवार को बिजली की नई दरें जारी कर दी है।प्रदेश की तीनों बिजली कंपनियों ने नए वित्तीय वर्ष के लिए कुल 48 हजार 874 करोड़ रुपए की जरूरत बताई थी। मौजूदा दर पर 3 हजार 916 रुपए का अंतर आ रहा था।

इसकी भरपाई के लिए बिजली कंपनियों ने 8.71 प्रतिशत की बढ़ोतरी की याचिका लगाई थी। इसके अलावा कंपनियों की ओर से वित्तीय वर्ष 2020-21 की 4982 करोड़ रुपए के दावे की सत्यापन याचिका अलग से पेश की गई थी, पर आयोग ने जांच के बाद 226 करोड़ रुपए ही मान्य किए।

ये राहत जारी रखी

  • निम्न दाब औद्योगिक जैसे आटा चक्की, कूलर-पंखा, वेल्डिंग आदि छोटे उद्योग और दुकानों की बिजली की दरों को यथावत रखा गया है।
  • ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन की दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।
  • उपभोक्ताओं से कोई मीटर चार्ज नहीं लिया जाएगा।
  • घरेलू श्रेणी के विद्युत उपभोक्ताओं को पहले की तरह ऑनलाइन भुगतान पर 0.5 प्रतिशत की छूट मिलती रहेगी।
  • रेलवे को दी जा रही बिजली की दरों और केप्टिव पावर संयंत्र वाले उपभोक्ताओं की दरों में परिवर्तन नहीं किया गया है।
  • प्रीपेड मीटरिंग, अग्रिम भुगतान, त्वरित भुगतानों, ऑनलाइन भुगतान और टाइम ऑफ डे पर दी जा रही छूट जारी रहेगी।
  • घरेलू बिजली सबसे महंगी

नए टैरिफ में घरेलू बिजली की दरें सबसे अधिक बढ़ाई गई हैं। 50 यूनिट तक 3.2 प्रतिशत तो 100 यूनिट तक बिजली की खपत करने वालों की बिजली दरों में 3.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है।

ये होंगी नई दरें

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments