Dhan Ki Kheti | मिल गई धान की ऐसी किस्म जिससे बंजर जमीन पर भी मिलेगी बंपर उपज

वैज्ञानिको ने की तैयार 

Dhan Ki Kheti – पुडुचेरी के कराईकल में एक कृषि संस्थान ने चावल की एक नई किस्म विकसित की है। इस किस्म की प्रमुख विशेषता यह है कि इसे लवणीय मिट्टी में भी आसानी से उगाया जा सकता है, क्योंकि इसमें मिट्टी की लवणता को सहन करने की पूरी क्षमता होती है। इसका मतलब है कि किसान इस नई किस्म की खेती को बंजर जमीन पर भी कर सकते हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, “केकेएल (आर) 3” नामक इस नई किस्म को “पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट” (PAJANCOA और RI) के शोधकर्ताओं की एक टीम ने विकसित किया है।

दोनों प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है खेती | Dhan Ki Kheti 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस शोध में पाया गया है कि “केकेएल (आर)” की खेती खारा और सामान्य दोनों प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है। क्योंकि इसका प्रदर्शन दोनों प्रकार की मिट्टी में उत्कृष्ट रहा है। यह जमीन पर तेजी से विकसित होती है। शोधकर्ताओं ने बताया है कि बंजर जमीन पर इसकी खेती करना और भी उपयोगी है। इस तरह, दक्षिण भारत के राज्यों के लिए “केकेएल (आर) 3” एक वास्तविक उपहार है, जो किसानों की आय में वृद्धि करेगा।

यह किस्म उत्तर भारत के जलवायु के लिए भी अनुकूल

शोधकर्ताओं का कहना है कि यह किस्म उत्तर भारत के जलवायु के लिए भी अनुकूल है। इसका मतलब है कि दक्षिण भारत में होने वाली इस खेती की सफलता के साथ-साथ, उत्तर भारत के किसानों को भी धान की पैदावार में वृद्धि करने में मदद मिलेगी। अब वे किसान जो पहले बंजर जमीन पर किसी भी फसल की खेती नहीं करते थे, वहां अब धान की इस किस्म की खेती करेंगे। इससे देश में चावल की पैदावार में वृद्धि होगी और खाद्य सुरक्षा में मदद मिलेगी।

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चावल उत्पादक देश | Dhan Ki Kheti

भारत, चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चावल उत्पादक देश है। यहां चावल सबसे महत्वपूर्ण खाद्य फसलों में से एक माना जाता है। यह देश के लोगों का मुख्य भोजन है और अधिकांश आबादी के लिए आहार का प्राथमिक स्रोत है। बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और तमिलनाडु सहित लगभग पूरे देश में चावल की खेती होती है। हालांकि, हर साल लाखों एकड़ जमीन लवणीय होने के कारण खाली रह जाती है। किसान इन जमीनों पर धान की खेती नहीं कर पाते हैं। लेकिन अब इस किस्म के आ जाने के बाद किसान असानी से केकेएल (आर) 3 किस्म की खेती लवणीय मिट्टी में भी कर पाएंगे।

Source Internet 

1 thought on “Dhan Ki Kheti | मिल गई धान की ऐसी किस्म जिससे बंजर जमीन पर भी मिलेगी बंपर उपज”

Comments are closed.