Deputy Collector Nisha Bangre – मुझे और मेरे साथियों को गोली मारने और डंपर से कुचलने मिल रही धमकी – निशा

न्याय यात्रा को रोकने के लिए कुछ हुआ तो शासन-प्रशासन होगा जिम्मेदार

Deputy Collector Nisha Bangreबैतूल मुझे और मेरे साथियों को लगातार धमकी मिल रही है कि इस न्याय यात्रा को रोक दें, इटारसी और होशंगाबाद से आगे नहीं बढऩे दिया जाएगा। लेकिन साथियों को यह धमकी दी जा रही है कि इस यात्रा को बंद कर दीजिए नहीं तो क्या पता राजनीति में कब आपके या आपके ऊपर गोली चल जाए या फिर कोई ट्रक डंपर आपको कुचल दे यह आपको पता भी नहीं चलेगा।

इस तरह से हमें धमकी प्राप्त हो रही है तो मैं मध्यप्रदेश शासन और जिला प्रशासन से कहना चाहूंगी कि इन धमकी और चेतावनी यात्रा को सीरियस लेकर इसे गंभीरता से ले और मेरे साथ या मेरे साथी के साथ किसी भी प्रकार की घटना होती है तो इसके लिए शासन-प्रशासन जिम्मेदार होगा। उक्त बात सारनी में खुले आसमान के नीचे सोने वाली डिप्टी कलेक्टर ने न्याय यात्रा के तीसरे दिन सारनी में कही।

खुले आसमान के नीचे गुजारी रात | Deputy Collector Nisha Bangre

डिप्टी कलेक्टर(Deputy Collector) श्रीमती बांगरे ने कहा कि हमने कल रात सारनी में खुले आसमान के नीचे चौराहे पर जानबुझकर रूके थे। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से हमारे करोड़ों देशवासी फुटपाथ पर सोते हैं उनका जीवन कैसा होता है? इसको महसूस करने के लिए हम भी फुटपाथ पर सोये थे। शिवराज मामा ने हमें विवश कर दिया कि हम खुले आसमान के नीचे सोने के लिए। उन्होंने कहा कि एक तरफ महिला आरक्षण की बात कही जा रही है तो दूसरी तरफ एक महिला को सरकार परेशान कर रही है।

यात्रा का तीसरा दिन | Deputy Collector Nisha Bangre

आमला से 28 सितम्बर को शुरू हुई न्याय पदयात्रा 335 किमी. चलेगी। डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने इस्तीफा मंजूर कराने के लिए इसे सरकार से धर्मयुद्ध करने की बात कही है। कल यात्रा सारनी पहुंची थी। रात्रि विश्राम के बाद आज सुबह यह यात्रा सारनी शहर भ्रमण के बाद पाथाखेड़ा, शोभापुर, बगडोना होते हुए सलैया पहुंचेगी। निशा बांगरे हाथ में संविधान लेकर यात्रा का नेतृत्व कर रही हैं।