Chhatarpur Borewell Video – चमत्कार – बोरवेल में गिरी बच्ची को सुरक्षित निकाला

पुलिस-प्रशासन और ग्रामीणों की रंग लाई मेहनत, ग्रामीणों ने नैंसी के सकुशल निकलने पर माना आभार

Chhatarpur Borewell Videoछतरपुर बोरवेल में 30 फीट गिरकर फंसी तीन वर्षीय बालिका नैंसी को स्थानीय पुलिस और प्रशासन ने ग्रामीणों और रेस्क्यू टीम की मदद सकुशल निकालकर चमत्कार कर दिया है। बच्ची को रस्सी का फंदा बनाकर बोरवेल से बाहर निकाला गया। नैंसी के सकुशल बाहर निकल जाने से ग्रामीणों ने पुलिस-प्रशासन सहित रेस्क्यू टीम का आभार माना है।

खेत के बोरवेल में गिरी थी नैंसी | Chhatarpur Borewell Video

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के बिजावर क्षेत्र के ग्राम ललगुवा में रहने बाले रवि विश्वकर्मा की तीन वर्षीय बेटी नैंसी विश्वकर्मा गांव के संतोष लटोरिया के खेत में मटर बिनकर खा रही थी तभी अचानक खेत में खुले बोरवेल में वह शाम करीब 5 बजे जा गिरी जिसके कारण वहां बैठे परिवार वालों ने बच्ची को गिरते देख तुरंत ही उसको बचाने का प्रयास किया।

महज चार घंटे में सकुशल निकाला | Chhatarpur Borewell Video

साथ ही प्रशासन की टीम को इस बात की सूचना दी जिसके बाद सूचना लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन की टीम ने बच्ची को बचाने का प्रयास शुरू किया और रेस्क्यू ऑपरेशन करते हुए 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद 3 वर्षीय बच्ची नैंसी को रात 9 बजकर 15 मिनट पर सकुशल बोरवेल से निकाल लिया गया। मगर बच्ची को निकालने के लिए प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी और बोरवेल के अंदर सीसीटीवी कैमरा डालकर स्क्रीन से बच्ची की हर हरकत पर नजर रखी गई ।

इसके अलावा बोरवेल की कुछ दूरी पर बुलडोजर के माध्यम से गड्ढा करने का प्रयास किया ताकि बोरवेल के अलावा बच्ची को सुरंग बनाकर सकुशल निकाला जाए। मगर उसकी नौबत ही नहीं आई और उसके पहले ही बच्ची को बोरवेल के गड्ढे से रस्सी डालकर कुशलतापूर्वक बाहर निकाल लिया गया।

सभी ने लगाई प्रशासन की जय-जयकार | Chhatarpur Borewell Video

जब बच्ची बाहर आई तो वहां मौजूद लोगों की भीड़ ने प्रशासन की जय जयकार लगाई। साथ ही इस रेस्क्यू ऑपरेशन में काम करने वाली पूरी पुलिस और प्रशासन की टीम का आभार व्यक्त किया । जिस दौरान रेस्क्यू चल रहा था उस दौरान बच्ची के परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल था और सभी यही दुआ कर रहे थे कि नैंसी सकुशल बोरवेल से बाहर निकल आए। इसीलिए सब की दुआ काम आई और प्रशासन की मेहनत रंग लाई जिसकी बदौलत बच्ची आज सकुशल सबके बीच में है।

बच्ची के निकलने के बाद ही प्रशासन की टीम ने तत्काल उसके चेकअप के लिए बिजावर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां पर चेकअप होने के बाद उसे स्वास्थ्य पाया गया इसके बाद ही जिला अस्पताल में 24 घंटे के लिए एडमिट किया गया ताकि उसे किसी प्रकार की परेशानी ना हो।

Leave a Comment