Cheapest Medical College | भारत के ये हैं सस्ते पांच प्राइवेट मेडिकल कॉलेज, NEET स्कोर पर भी एडमिशन

जानें कितनी लगेगी सालाना फीस 

Cheapest Medical Collegeराष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी ने पिछले 5 मई को NEET UG परीक्षा आयोजित की। इसका अंतिम परिणाम 14 जून को प्रकाशित किया जाएगा। परिणाम के साथ ही कटऑफ भी घोषित किया जाएगा। पिछले साल, सामान्य वर्ग के लिए कटऑफ 720-137 था और आरक्षित वर्गों, जैसे ओबीसी, एससी और एसटी के लिए 136-107 था।

उन उम्मीदवारों के लिए जो सस्ते सरकारी कॉलेजों में प्रवेश पाना चाहते हैं, NEET स्कोर महत्वपूर्ण है। ऐसे उम्मीदवारों को जिनका NEET स्कोर कम होता है, उन्हें निजी कॉलेजों में प्रवेश लेना पड़ेगा। सामान्यत: प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की शुल्क सरकारी कॉलेजों से अधिक होती है।

महात्मा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (MGIMS), वर्धा | Cheapest Medical College

MGIMS भारत का पहला ग्रामीण मेडिकल कॉलेज है जो महाराष्ट्र के सेवाग्राम में स्थित है। इसका प्रबंधन कस्तूरबा हेल्थ सोसायटी द्वारा किया जाता है। प्रति वर्ष, संस्थान में 100 MBBS छात्रों को नामांकित किया जाता है, जिनमें से आधे महाराष्ट्र राज्य से और बाकी आधे भारत के अन्य हिस्सों से आते हैं।

कोर्सेज : कॉलेज MBBS के साथ-साथ MD और MS की डिग्री और मेडिसिन और सर्जरी में डिप्लोमा कोर्सेज भी प्रदान करता है।

एडमिशन प्रक्रिया : 12वीं के बाद NEET UG के स्कोर के आधार पर MBBS कोर्सेज में प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।

आर्मी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज (ACMS), नई दिल्ली

ACMS, गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से संबद्ध एक मेडिकल कॉलेज है जो आर्मी वेलफेयर एजुकेशन सोसाइटी (AWES) के समर्थन से संचालित है। यह बेस हॉस्पिटल दिल्ली कैंट, नई दिल्ली के पास स्थित है। इस कॉलेज में प्रति वर्ष 100 छात्रों को एडमिशन मिलता है।

कोर्सेज : कॉलेज में केवल MBBS कोर्स होता है।

एडमिशन प्रक्रिया : 12वीं के बाद NEET UG के स्कोर के आधार पर MBBS कोर्स में प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।

एसडीएम कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड हॉस्पिटल, धारवाड़ | Cheapest Medical College

एसडीएम कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज कर्नाटक के धारवाड़ के मंजुश्रीनगर में स्थित है। यह कॉलेज हुबली और धारवाड़ के बीच नवलूर रेलवे स्टेशन के पास स्थित है। यह भारत में सबसे बड़े निजी मेडिकल संस्थानों में से एक है और कर्नाटक में सबसे बड़ा है। कॉलेज में मेडिसिन और सर्जरी के कोर्सेज प्रदान किए जाते हैं।

कोर्सेज : कॉलेज MBBS के साथ-साथ, पैरा-मेडिकल, नर्सिंग, फिजियोथेरेपी, और प्राकृतिक चिकित्सा जैसे कोर्सेज में भी डिप्लोमा प्रदान करता है।

एडमिशन प्रक्रिया : 12वीं के बाद NEET UG के स्कोर के आधार पर MBBS कोर्सेज में प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।

क्रिस्चिअन मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (CMS), वेल्लोर

क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के दो कैंपस हैं – एक मुख्य कैंपस, जो वेल्लोर सिटी के बीच में स्थित है, और दूसरा बगायम में, जो मुख्य परिसर से लगभग 7 किमी दूर है। CMC में 8,800 से अधिक कर्मचारी हैं, जिनमें 1,528 से अधिक डॉक्टर और 2,400 नर्सें शामिल हैं। 2023 के लिए नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क में इसे भारत में तीसरे स्थान पर रखा गया था।

कोर्सेज : MBBS के अलावा 57 पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा और डिग्री मेडिकल कोर्सेज (इनमें MS, MD, DM, MCh, बैचलर ऑफ साइंस, मास्टर ऑफ साइंस और PHd शामिल है), 44 एलाइड हेल्थ साइंस कोर्सेज और 14 नर्सिंग और अन्य फील्ड के कोर्सेज प्रदान किए जाते हैं। इसके अलावा, कॉलेज 52 फेलोशिप कोर्सेज भी ऑफर करता है।

ऐसे मिलेगा एडमिशन : 12वीं के बाद NEET UG स्कोर के आधार पर MBBS कोर्सेज में प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।

त्रिची एसआरएम मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, तिरुचिरापल्ली | Cheapest Medical College

यह एसआरएम ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस का एक अभिन्न हिस्सा है। यह तमिलनाडु की डॉ. एमजीआर मेडिकल यूनिवर्सिटी से एफिलिएटेड है।

कोर्सेज : कॉलेज MBBS के साथ-साथ, पैरा-मेडिकल, नर्सिंग, फार्मेसी, फिजियोथेरेपी, और प्राकृतिक चिकित्सा जैसे कोर्सेज में भी डिप्लोमा प्रदान करता है।

एडमिशन प्रक्रिया : 12वीं के बाद NEET UG के स्कोर के आधार पर MBBS कोर्सेज में प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।

Source Internet