महाशिवरात्रि पर महाकाल पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु!: दावा- एक घंटे में कर सकेंगे दर्शन; 3 बजे खुलेंगे गेट, 44 घंटे खुले रहेंगे

महाशिवरात्रि पर महाकाल पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु!: दावा- एक घंटे में कर सकेंगे दर्शन; 3 बजे खुलेंगे गेट, 44 घंटे खुले रहेंगे

कल यानी शनिवार 18 फरवरी को देशभर में महाशिवरात्रि धूमधाम से मनाई जाएगी। इस उत्सव के दौरान उज्जैन के महाकाल मंदिर में 10,000,000,000 से अधिक भक्तों के आने की उम्मीद है। महाकाल मंदिर समिति का दावा है कि करीब एक घंटे में श्रद्धालुओं को दर्शन मिल जाते हैं। अगर आप भी महाशिवरात्रि पर महाकाल के दर्शन करने का प्लान कर रहे हैं तो जानिए इसके लिए की जाने वाली पूरी तैयारियां ताकि आपको कोई परेशानी ना हो। जैसे- जहां आप वाहन पार्क कर सकेंगे। मंदिर पहुंचने में कितना समय लग सकता है। तो आइए बताते हैं महाशिवरात्रि से जुड़ा पूरा शेड्यूल।

महाशिवरात्रि पर महाकाल पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु!: दावा- एक घंटे में कर सकेंगे दर्शन; 3 बजे खुलेंगे गेट, 44 घंटे खुले रहेंगे

महाशिवरात्रि पर महाकाल पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु!: दावा- एक घंटे में कर सकेंगे दर्शन; 3 बजे खुलेंगे गेट, 44 घंटे खुले रहेंगे

महाकाल लोक के उद्घाटन के बाद महाकाल मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार महाशिवरात्रि पर यहां आने वाले श्रद्धालुओं की रिकॉर्ड संख्या टूट जाएगी। इस बार की खास बात यह है कि सुबह महाकाल मंदिर के कपाट खुलने के साथ ही आम श्रद्धालुओं को भी दर्शन के लिए मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा.

इस दौरान चलित भस्म आरती के दर्शन करते हुए श्रद्धालु तीन अलग-अलग द्वारों के बाहर रहेंगे। गर्भगृह में रात 10 बजे से विशेष सेवा शुरू होगी जिसमें महाकाल को दूल्हा बनाया जाएगा. इससे पहले पुजारी-पुरोहित महाकाल का दूध, दही, घी, शहद और विभिन्न फलों के रस से अभिषेक करते हैं।

यहां पार्क करना संभव होगा

मंदिर के सहायक प्रशासक मूलचंद जुनवाल ने कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। इंदौर, देवास, बड़नगर आगर आदि क्षेत्रों से आने वाले वाहनों के लिए शहर से 16 पार्किंग स्टेशन बनाए गए हैं। यहां बसों और एटीवी के लिए पार्किंग होगी।

इंदौर, देवास और भोपाल के श्रद्धालु हरिफतक पुल के नीचे मन्नत गार्डन, वाकणकर ब्रिज के पास, करकराज पार्किंग और भील समाज धर्मशाला पार्किंग में अपने वाहन पार्क करते हैं।
बड़नगर नागदा साइड व आगर कार्तिक मेला ग्राउंड, महाकाल धाम के सामने, कलौता समाज धर्मशाला, श्री मेवाड़ा समाज धर्मशाला, रंजीत हनुमान के पास, हरसिद्धिपाल, चक्रतीर्थ टर्निंग के अंदर पार्किंग, मुल्लापुरा, इंजीनियरिंग कॉलेज हाउंड, प्रशांति इंजीनियरिंग बोर्ड, प्रशांति इंजीनियरिंग बोर्ड यूडीए से आने वाले श्रद्धालु ग्राउंड) ऊपरी वाहनों को खड़ा कर दर्शन के लिए मंदिर तक पहुंच सकेंगे।

महाशिवरात्रि पर महाकाल पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु!: दावा- एक घंटे में कर सकेंगे दर्शन; 3 बजे खुलेंगे गेट, 44 घंटे खुले रहेंगे

गेट से कतार को 6 अंकों से अलग करें

मानसरोवर गेट से मंदिर में प्रवेश करने के बाद श्रद्धालु महाकाल सुरंग से होते हुए गेट नंबर छह से परिसर में प्रवेश करेंगे. वहां से भक्तों को कार्तिकेय के भगवान महाकाल और गणेश मंडपम को अलग-अलग कतारों में दिखाया जाएगा। इस प्रयोजन के लिए कार्तिकेय मंडपम में वर्तमान प्रवेश द्वार के अलावा दो और द्वारों का निर्माण किया गया था। इस व्यवस्था से श्रद्धालुओं को कार्तिकेय मंडपम के तीन द्वारों से नौ कतारों में प्रवेश करने दिया जाएगा। नंदी हॉल रैंप से तीन कतारें मंदिर की ओर बढ़ेंगी। इस प्रकार चार द्वारों से 12 पंक्तियों में खड़े होकर श्रद्धालु मंदिर परिसर में प्रवेश करेंगे।

हर 200 मीटर पर पानी की बोतल मिलेगी

कतार में खड़े श्रद्धालुओं के लिए हर 200 मीटर पर पानी की बोतल उपलब्ध होगी। साथ ही शिवमय वातावरण में भजन मंडली भी प्रस्तुति देगी। श्रद्धालु जब महाकाल के दर्शन करने आएंगे तो बेरिकेड्स पर खड़े होकर दर्शन का इंतजार करेंगे। चार स्थानों पर कलाकार श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध करते हुए शिव भजनों की प्रस्तुति देते रहेंगे। जिसमें चारधाम, त्रिवेणी संग्रहालय, महाकाल महलोक और कड़कराज क्षेत्र में चार चबूतरे बनाए जा रहे हैं। करीब 25 कलाकार झांझ और डमरू की धुन से माहौल को निखारेंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम 22 जगहों पर रहेगी

महाकाल मंदिर व आसपास के 22 स्थानों पर डॉक्टरों की टीम तैनात रहेगी. त्रिवेणी संग्रहालय और सोमकुंड में पांच बिस्तर का अस्थाई अस्पताल भी बनाया जाएगा। करीब 100 डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय और अन्य नॉन मेडिकल स्टाफ ड्यूटी पर रहेंगे। जिला अस्पताल के मुताबिक महाकाल मंदिर प्रबंधन समिति की ओर से डॉक्टरों की टीम तैनात करने का पत्र मिला है. शाम 5:00 बजे से। 16 फरवरी को शाम 5:00 बजे। 19 फरवरी को स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम विभिन्न स्थानों पर तैनात रहेगी।

https://twitter.com/ujjainmahakall/status/1626429923329208320/photo/2

इन टीमों को त्रिवेणी व्याख्या केंद्र, वाहन पार्किंग, कारकराज महादेव पार्किंग, चारधाम, हरसिद्धि चौराहा, श्री महाकालेश्वर अन्ना क्षेत्र, मानसरोवर भवन, महाकाल प्लाजा, सुविधा केंद्र, श्री महाकालेश्वर मंदिर परिसर, भस्म आरती द्वार, चार महाकाल मंदिर के गेट नंबर पर भेजा जाएगा. निर्गम द्वार, सोमकुंड, नरसिंहघाट सहित अन्य क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा।

8 एएसपी, 25 डीएसपी और 45 टीआई तैनात हैं
एएसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने बताया कि महाशिवरात्रि पर देशभर से 10 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के महाकाल पहुंचने की संभावना है. प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था की रूपरेखा तैयार की। पुलिस विभाग में 8 एएसपी, 25 डीएसपी और 45 टीआई स्तर के पुलिस अधिकारी ड्यूटी पर हैं।

सुरक्षा व्यवस्था बंटी हुई है

Leave a Comment