पंजाब | के मुख्यमंत्री की कुर्सी से हटने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस के खिलाफ बगावती तेवर दिखाने लगे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू को चुनावी मैदान में खुली चुनौती देने और राहुल गांधी-प्रियंका गांधी को अनुभवहीन बताने वाली कैप्टन अमरिंदर की टिप्पणी पर फिलहाल कांग्रेस वेट एंड वॉच की रणनीति पर चलेगी। कैप्टन के बागी तेवर पर फिलहाल कांग्रेस कोई एक्शन नहीं लेगी। माना जा रहा है कि कांग्रेस आगामी चुनाव को देखते हुए अभी कोई एक्शन लेने के मूड में नहीं है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला बोला था और कहा था कि उन्हें किसी भी कीमत पर वह चुनाव नहीं जीतने देंगे। इतना ही नहीं, सिद्धू को मुख्यमंत्री बनने से रोकने के लिए वह हर कुर्बानी देने को तैयार हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में वह नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मजबूत कैंडिडेट उतारेंगे और उनकी हार सुनिश्चित करेंगे। इतना ही नहीं, कैप्टन ने कहा था कि वह इस खतरनाक आदमी से देश को बचाने के लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ इन बयानों के लिए कोई एक्शन लेने की जरूरत नहीं है। कैप्टन के शांत होने का इंतजार करेगी। बता दें कि कांग्रेस की पंजाब इकाई में गुटबाजी और आंतरिक कलह की वजह से हाल में अमरिंदर सिंह ने राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और कांग्रेस नेतृत्व के सामने अपनी नाराजगी जाहिर की थी। इतना ही नहीं, उन्होंने सोनिया गांधी के समक्ष भी कहा था कि उनका बहुत अपमान हो रहा है।