नई दिल्ली । प्रधानमंत्री मोदी की रैली का वक्त ज्यों-ज्यों करीब आ रहा, कांग्रेस नेताओं की बेकरारी भी बढ़ती जा रही है। यह बेकरारी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को लेकर है। पिछले कई दिनों से किशोर के भाजपा में शामिल होने की अटकलें चरम पर हैं। चर्चा है कि किशोर शनिवार को मोदी की रैली के दौरान भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं। पिछले दिनों हरीश रावत और अब पूर्व मंत्री शूरवीर सजवाण के साथ उनकी तकरार से इन चर्चाओं को बल मिला है। सूत्रों के अनुसार किशोर के कुछ करीबी भी शनिवार की रैली को लेकर खासे सक्रिय हैं। वो अपने पुराने साथियों को रैली में शरीक होने के लिए सहमत करने की कोशिश भी कर रहे हैं। किसी वक्त किशोर के खास रहे एक वरिष्ठ नेता ने भी इसकी पुष्टि की। किशोर समर्थक उनके अपमान और उपेक्षा को मुद्दा बना रहे हैं। किशोर पिछले काफी समय से पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उन्हें वक्त नही मिल पा रहा है। मैं कोई ज्योतिषी नहीं हूं संपर्क करने पर किशोर ने भाजपा में शामिल होने की बात को स्वीकार नहीं किया, लेकिन इनकार भी नहीं किया। उनका कहना है कि कल क्या होगा, क्या कहा जा सकता है। मैं भी कोई ज्योतिषी नहीं हूं जो भविष्य देख ले।