हरियाणा : मुख्यमंत्री ने बुधवार को 'वर्ल्ड कार-फ्री डे' के अवसर पर चंडीगढ़ सिविल सचिवालय में ई-वाहनों के प्रति जागरूकता प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद कहा कि वाहनों की निरंतर बढ़ती संख्या से पर्यावरण प्रदूषित होता जा रहा है। लोगों ने वाहनों को स्टेटस सिंबल मान लिया है जिसके कारण घर और ऑफिस नजदीक होते हुए भी कर्मचारी व अधिकारी गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने लोगों को कार-पूलिंग सिस्टम अपनाने या नजदीक जगह के लिए पैदल या साइकिल से जाने के लिए संकल्प लेने का आह्वान किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वायुमंडल में ऑक्सीजन की प्रचूर मात्रा होनी आवश्यक है, लेकिन प्रदूषण के कारण पर्यावरण में कार्बन डाईऑक्साइड की मात्रा बढ़ती जा रही है। प्रदेश में ऑक्सीवन लगाने को बढ़ावा दिया जा रहा है। वन विभाग द्वारा भी करीब तीन करोड़ पौधे लगाए जा रहे हैं। विद्यार्थियों को पौधारोपण के प्रति प्रेरित किया जा रहा है।

हरियाणा में ई-वाहनों के उपयोग को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार की ओर से ई-वाहन खरीदने वालों को सब्सिडी देने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि राज्य में ई-वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार की ओर से ई-वाहन खरीदने वालों को सब्सिडी दी जाएगी। सरकार ने निर्धारित अवधि से पुराने वाहनों को एनसीआर क्षेत्र में बंद करने के लिए व्हीक्ल-स्क्रैप पॉलिसी भी बनाई है।