नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में उतार चढ़ाव का क्रम जारी है। बीत कुछ दिनों से एक दिन में नए मामलों की संख्या तीस हजार के नीचे थी हालांकि गुरुवार को आए आंकड़े में पिछले 24 घंटे में देश में 31,923 नए मामले आए और 282 लोग कोरोना से जिन्दगी की जंग हार गए। वहीं इस समयावधि में 31,990 लोग ठीक होकर घर भी लौटे। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार देश में फिलहाल 3,01,640 केस एक्टिव हैं, वहीं 3,28,15,731 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं। इसके साथ ही 4,46,050 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। देश में अब तक कोरोना के कुल पुष्ट मामलों की संख्या 3,35,63,421 हो चुकी है। बुधवार तक देश भर में 83,39,90,049 खुराक दी गई, इसमें से 71,38,205 खुराक बुधवार को दी गई। अब लगाए जा चुके टीकों में से 61,91,01,456 पहली डोज है और 21,42,62,424 लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। देश भर में 43,794 सरकारी केंद्रों और 2,496 निजी केंद्रों पर कोविड रोधी टीकाकरण संपन्न कराया जा रहा है। अब तक 83,33,38,186 डोज लगाई जा चुकी है। देश भर में अब तक 73 करोड़ 33 लाख 54 हजार 316 डोज कोविशील्ड की और कोवैक्सीन की 9 करोड़ 56 लाख 31 हजार 657 डोज दी गई है। उधर, आईसीएमआर ने बताया कि देश भर में अब तक 55,83,67,013 सैंपल्स की जांच हो चुकी है, इसमें 15,27,443 सैंपल्स की जांच बुधवार को हुई। उधर केंद्र सरकार ने केरल उच्च न्यायालय के उस फैसले के विरुद्ध बुधवार को एक अपील दायर की जिसमें उन लोगों को कोविशील्ड टीके की पहली खुराक के चार सप्ताह बाद ही दूसरी खुराक देने की अनुमति दी गई थी, जो ऐसा चाहते हैं। सरकार की ओर से पहली खुराक के 84 दिन बाद दूसरी खुराक लेने का नियम बनाया गया है। केंद्र ने अदालत में कहा कि यदि उक्त आदेश वापस नहीं लिया गया तो देश में टीकाकरण नीति पटरी से उतर जाएगी। केंद्र ने अपनी अपील में कहा है कि अगर उच्च न्यायालय की एकल पीठ की ओर से तीन सितंबर को दिए गए आदेश को वापस नहीं लिया गया तो कोविड-19 से मुकाबला करने की केंद्र सरकार की रणनीति के क्रियान्वयन में समस्या खड़ी हो जाएगी।