बैतूल। (सांध्य दैनिक खबरवाणी) डब्ल्यूएचओ के टीबी कंसल्टेंट डॉ. उत्सव राज, जिला क्षय अधिकारी आनंद मालवीय, डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर टीबी प्रदीप नागले और प्रमोद दरबाई द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घोड़ाडोंगरी में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों का जायजा लिया। टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत बैतूल जिले को डब्ल्यूएचओ द्वारा प्रदेश में सिल्वर मैडल के लिए नामित किया गया है। इसी सिलसिले में यह अधिकारी घोड़ाडोंगरी पहुंचे थे। 

डब्ल्यूएचओ कंसलटेंट (टीबी) डॉ. उत्सव राज ने बताया कि पिछले वर्ष बैतूल जिले ने क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश में कांस्य पदक हासिल किया था इस साल डब्ल्यूएचओ भोपाल द्वारा बैतूल जिले को सिल्वर मैडल के लिए नामित किया गया है। इसको लेकर विजिट की गई। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र का कार्य अच्छा है। कर्मचारियों को अधिक से अधिक सैंपलिंग करने की समझाइश दी गई। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 20 प्रतिशत क्षय रोग में कमी आई थी। इस बार 40 प्रतिशत क्षय रोग में कमी आने पर बैतूल को सिल्वर मैडल हासिल हो सकता है।

जिला क्षय अधिकारी डॉक्टर आनंद मालवीय ने क्षेत्र की जनता से अपील की कि ऐसे व्यक्ति जो 2 हफ्ते से खांसी से पीडि़त हैं, जिन्हें बुखार आ रहा है, वजन में कमी आ रही है, रात में पसीना आता है, भूख कम लग रही है, वे लोग अपने निकटतम स्वास्थ्य केंद्र में टीबी रोग की जांच कराएं। उन्होंने कर्मचारियों को ऐसे लोगों को चिन्हित कर अधिक से अधिक टेंपरिंग करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान बीपीएम प्रकाश मकोड़े, बीईई जेडी मंडलेकर, संजय ठाकुर, दुर्गेश सारस्वत सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी मौजूद थे।