झल्लार।(सांध्य दैनिक खबरवाणी) प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी भैरव अष्टमी की धूमधाम से मनाने की तैयारी की जा रही है। तैयारी का यह अंतिम चरण चल रहा है। 27 नवंबर को अष्टमी मनाई जाना है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम के एक ओर स्थित महरी माता प्रांगण में बाबा भैरवनाथ काल भैरव जी की अष्टमी 27 नवंबर को मनाई जाएगी। मंदिर समिति संचालक द्वारा बताया गया कि बाबा भैरवनाथ और महरी माता मंदिर की रंगाई पुताई और हो चुकी है। शुक्रवार तक सभी कार्य संपन्न हो जाएंगे।

शनिवार के दिन बाबा भैरव अष्टमी भैरव नाथ की जयंती का कार्यक्रम मनाया जाएगा, जिसमें सुबह भैरव बाबा का अभिषेक पूजन अर्चन 7 बजे प्रारंभ होगा। तत्पश्चात आरती और प्रतिवर्ष अनुसार 11 बजे से महाप्रसादी का आयोजन प्रारंभ होगा, जिसमें मूंग के हलवे का प्रसाद वितरण किया जाएगा। यह कार्यक्रम दिन भर चलता रहेगा। भजनों का क्रम प्रारंभ रहेगा शाम को ठीक 7 बजे महाआरती का क्रम प्रारंभ होगा, जिसमें 7 बजे सर्वप्रथम भगवान गणेश की आरती, दूसरी माता काली माता की आरती और तीसरी बाबा भैरव नाथ की आरती होगी। सभी क्षेत्रवासियों से अपील की गई है कि इस दिन बाबा भैरवनाथ के कार्यक्रम में सम्मिलित हो। निवेदन किया गया है कि 27 नवंबर को होने वाली भैरव अष्टमी पर आप सभी सम्मिलित होकर इस कार्यक्रम को सफल बनाएं और इस आयोजन में सहयोग दें।